स्मृति के नेतृत्व में विकास की बुलंदियों को छू रहा अमेठी

सुशील कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

अमेठी 19 अगस्त(शिखर सत्ता)।अमेठी 2019 के लोकसभा चुनाव में मिली ऐतिहासिक जीत के बाद केंद्रीय मंत्री भारत सरकार स्मृति जुबिन ईरानी लगातार अमेठी के विकास के लिए प्रयत्नशील हैं और अमेठी को अभी तक सैकड़ों करोड़ों की परियोजनाएं सौगात के रूप में दे चुकी हैं।

बताते चलें कृषि विज्ञान केंद्र ,जिले को पहला महिला विश्वविद्यालय ,अमेठी बाईपास, ट्रामा सेंटर ,सिटी स्कैन मशीन, एफएम सेंटर, मेडिकल कॉलेज ,खादरैक सेंटर की स्थापना ,कई पावर हाउस, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था ,कठौरा में 29 बड़ी परियोजनाओं की सौगात, कई नव दंपतियों को उपहार सहित वैलनेस सेंटर का लोकार्पण किया यही नहीं अमेठी में कांग्रेस की परंपरागत सीट और गांधी परिवार के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हराकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राजनीति के इतिहास में बहुत बड़ा उलटफेर किया किसी भी व्यक्ति ने यह नहीं सोचा था कि गांधी परिवार का कोई सदस्य अमेठी से हारेगा लेकिन अपने मेहनत और विकास के बल पर स्मृति ईरानी ने इस असंभव को संभव कर दिखाया और अमेठी वासियों का दिल जीत लिया आज अमेठी वासी स्मृति ईरानी को सिर्फ सांसद ही नहीं बल्कि अपनी दीदी परिवारिक सदस्य की तरह मानते हैं यही नहीं लोकसभा चुनाव के पहले दीदी स्मृति ईरानी के प्रयास से देश के प्रधानमंत्री ने अमेठी को ऐ के -203 राइफल के साथ-साथ 538 करोड़ की परियोजनाओं की भी सौगात दी थी जिसका श्रेय केंद्रीय मंत्री भारत सरकार स्मृति ईरानी को ही जाता है।

।स्मृति ज़ुबिन ईरानी एक भारतीय महिला राजनीतिज्ञ और भारत सरकार के अंतर्गत कपड़ा मंत्री तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं और इससे पूर्व वे मानव संसाधन विकास मंत्री रह चुकी हैं। उन्होंने समय-समय पर अमेठी का दौरा किया। जनता और कार्यकर्ताओं से सम्पर्क रखने के कारण वे 2019 में विजय पाने में कामयाब हुई हैं। अब अमेठी में भाजपा के सदस्यता अभियान की शुरुआत करने से लेकर संगठन और विकास कार्यों पर उनकी पैनी नजर है।चाहे बरौलिया में भाजपा कार्यकर्ता की हत्या का मामला हो या शिलान्यास व उद्घाटन हो, वे सबकी स्वयं निगरानी कर रही हैं। अमेठी में भविष्य में होने वाले विकास कार्यों के लिए दर्जनों से ज्यादा चिट्ठियां संबंधित राज्य और केंद्र सरकार के मंत्रियों को लिख चुकी हैं। उन्होंने अमेठी की दीदी के रूप में अच्छी पैठ बना ली है। वे अमेठी में राहुल व कांग्रेस को समाप्त कर अपना व भाजपा का गढ़ बनाने में लगी है।जून में जब स्मृति ईरानी अमेठी आई तो उन्होंने एेलान किया कि वह अमेठी में अपना घर बनाएंगी। दरअसल, इसके पीछे की बड़ी वजह जानकार बताते हैं कि चुनाव कैम्पेन के दौरान विपक्ष उन पर बाहरी होने का इल्जाम लगाता रहा है। इसलिए वे अब अमेठी को अपना स्थाई ठिकाना बनाना चाहती हैं। इसके लिए अमेठी मुख्यालय में उन्होंने जमीन भी देख ली है। उनके करीबियों का मानना है कि स्मृति का घर भी आम जनता के हिसाब से बनेगा, जहां बड़ी पार्किंग के साथ साथ आम जनमानस के बैठने की अच्छी खासी व्यवस्था होगी।टेक्स्टाइल डिजाइनिंग सेंटर लगाने के वादे पर काम शुरू कर दिया है। इतने कम समय के अंदर रेलवे प्रोजेक्ट्स से इतर स्मृति ईरानी कई सौ करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास कर चुकी हैं।23 मई को अमेठी जीतने के दो दिन बाद स्मृति के करीबी कार्यकर्ता की हत्या हो गई थी। सारे प्रोग्रामों को निरस्त करते हुए तत्काल स्मृति ईरानी उनके घर पहुंची। घर वालों को सांत्वना दी और अर्थी को कंधा दिया जो अपने आप में बड़ी बात है और उनकी लोकप्रियता का और उदारवादीता का बहुत बड़ा उदाहरण है वही जगदीशपुर से स्थानीय विधायक और राज्यमंत्री सुरेश पासी भी अपने क्षेत्र में विकास के लिए जाने जाते हैं क्षेत्रवासियों का कहना है जनता के सुख दुख में भागीदार रहने वाले राज्यमंत्री सुरेश पासी अब तक के सबसे ज्यादा विकास करने वाले स्थानीय विधायक और राज्यमंत्री है राज्यमंत्री सुरेश पासी का कहना है किसी भी पार्टी के रीड के हड्डी उसके कार्यकर्ता होते हैं आज भारतीय जनता पार्टी जिस बुलंदी को छू रही है उसका श्रेय पार्टी के कार्यकर्ताओं को जा रहा हूं पार्टी के कार्यकर्ता दिन रात मेहनत करते हुए सदस्यता अभियान में भी जुटे हुए हैं और अमेठी की ज्यादातर जनता भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर रही है यह पार्टी की और जनप्रतिनिधियों की लोकप्रियता और विकासवादीता को दर्शाता है।

सुशील कुमार मिश्रा की रिपोर्ट

Comments

comments

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com